if there is no yog of marriage in kundsli

अगर कुंडली में विवाह के योग नहीं है तो कैसे करे ठीक

आजकल ऐसा देखा जाता है कि लोग जब 30 और 35 के हो जाते है उसके बाद में शादी करने लगते है। लिव इन रिलेशनशिप के अनैतिक प्रचलन के चलते हुए लोग अब तो 40 की उम्र तक भी विवाह नहीं करते और आराम से मजे से रहते है। यह ऐसे लोग होते है जिनका कोई परिवार नहीं होता है। यह केवल एक स्वार्थ का संबंध होता है जो कि एक न एक दिन टूटता है उसके बाद में जिंदगीभर पछतावा पीछे छूट जाता है।

विवाह में कौन सी अड़चन आती है?

हाथ में विवाह की रेखा

जैसा की हम जानते है कि हाथ में बुध पर्वत के पास और मस्तिष्क रेखा के ऊपर संतान और विवाह की छोटी छोटी रेखाए होती है। इसे हम प्रेम रेखा भी कहते है। यह रेखा एक अथवा एक से अधिक होती है। अगर यह रेखा गहरी और लम्बी होती है तो वो व्यक्ति अपने रिश्ते को महत्व देता है। ऐसा माना जाता है कि अगर रेखा हल्की होती है तो व्यक्ति को अपने रिश्ते की परवाह नहीं होती है।

मंगल दोष

अधिकतर लोग मांगलिक होते है इसलिए भी उनके विवाह में देरी हो जाती है। अगर आपको पता है कि आप मांगलिक है तो आप उसका समय से पहले ही मंगल के उपाय करके लड़का या लड़की ढूंढना शुरू कर देना चाहिए था। लेकिन आजकल अधिकतर ऐसे लोग है जो कि विवाह को गंभीरता से नहीं लेते है।

कुंडली में विवाह के योग की स्थिति

अगर हम लड़के की कुंडली में विवाह के जिम्मेदार की बात करे तो उसमे शुक्र ग्रह और लड़की की कुंडली में गुरु ग्रह जिम्मेदार होता है। अगर लड़के की कुंडली में शुक्र कमजोर है तो विवाह में अड़चने आएगी और लड़की की कुंडली में गुरु कमजोर है तो विवाह में अड़चने आएगी। कहा जाता है कि दूसरा अगर सप्तम भाव एवं सप्तमेश, पंचम भाव एवं पंचमेश, बिगड़ा हुआ है तो अड़चने आएगी। कुछ प्रसिद्ध ज्योतिष द्वादश भाव एवं द्वादशेश, द्वितीय भाव एवं द्वितीयेश, अष्टम भाव एवं अष्टमेश भी देखते हैं।

कैसे कुंडली के दोषों को ठीक करे?

  • मंगल दोष निवारण के उपाय
  • रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ करे।
  • भाई सगा हो या सौतेला उससे अच्छे संबंध रखे।
  • मॉस खाना छोड़ दे, कभी कभार खाने वालो में से है तो भी छोड़ दे।
  • घर दक्षिण में नीम का पेड़ लगाए और उसे प्रतिदिन जल चढ़ाए।
  • आँखों में सुरमा जरूर लगाए।
  • घर से बाहर निकलते समय गुड खाना चाहिए।
  • विवाह से पहले कुंभ या अश्वत्य विवाह करे और भात पूजा भी करवाए।

लड़की के लिए-

  • नियमित रूप से खरगोश को रोजाना खाना खिलाए।
  • हो सके तो गुरूवार को व्रत रखे और मंदिर में पीली वस्तुओं का दान करे।
  • गुरूवार को वट वृक्ष, पीपल और केले के वृक्ष पर जल अर्पित करे। इसी के साथ में शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए।
  • रोजाना माथे पर केसर या चन्दन का तिलक लगाए और तुलसी की माला पहने।
  • पीले वस्त्र ही पहने और घर में पर्दो का रंग गुलाबी रखे।
  • अगर आप भोजन में केसर का सेवन करते है तो इससे विवाह जल्दी एवं शीघ्र होने की संभावना बनती है।

लड़कों के लिए-

  • लड़को को शुक्र के लिए उपाय करने चाहिए।
  • लड़को को यह करना चाहिए की वे मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाए और वहा बैठ कर उनकी पूजा करे। इसके बाद में माथे से थोड़ा सा सिन्दूर लेकर उसे राम और सीता के मंदिर में राम और सीता के चरणों में चढ़ाकर उनसे अपने शीघ्र विवाह की कामना करे। इस उपाय को कम से कम 21 मंगलवार तक करे।
  • लड़के या लड़की दोनों के ही लिए यह उपाय कर सकते है। सोमवार के दिन एक किलो 200 ग्राम चने की दाल और सवा लीटर दूध किसी जरूरतमंद को दान करे।
  • किसी भी लाल गाय को रोटी में गुड लपेटकर खिलाते रहे या केसर भात खिलाए। आप ऐसा भी कर सकते है कि किसी भी गाय को गुरूवार को आटे के दो पेड़े पर थोड़ी हल्दी लगाकर खिलाए तथा इसी के साथ में थोडासा गुड़ और चने की पीली दाल भी खिलाए।
  • जो लोग विवाह योग्य है तो वह लोग विवाह के लिए प्रत्येक गुरूवार को नहाने वाले पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करना चाहिए।
  • शुक्ल पक्ष के हर एक सोमवार को व्रत रखे और आकड़े के आठ पत्ते की पूजा एवं अर्चना कर सात पत्तो की थाली बनाए और आठवे पत्ते पर अपने नाम लिख कर उसे शिवजी को अर्पित करे ।

Like & Share our Facebook Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>