विवाह से पहले कुंडली क्यों अहम भूमिका निभाती है?

ज्यादातर भारतीय लोग सोचते हैं कि शादी से पहले कुंडली मिलान एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ज्योतिषियों की मदद से आप जोड़ों के जन्म चार्ट की तुलना और विश्लेषण कर सकते हैं। कुंडली मिलान का उद्देश्य न केवल अनुकूलता का आकलन करना है, बल्कि यह संतान से संबंधित है। ज्योतिषियों के अनुसार यह माना जाता है कि मिलान ज्योतिषीय चार्ट के अभ्यास से यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि जोड़ों को शादी के बाद सुखी और आरामदायक जीवन मिलेगा। इसलिए अधिकांश जोड़ों को इस तथ्य के बारे में पता नहीं होता है कि यदि जोड़ों की तुलना में कम संगतता है, तो यह उनकी शादी में वित्तीय समस्या और कैरियर की समस्या का कारण बन सकता है।

इसलिए, शुरुआती समय से लोगों का यह मानना ​​है कि एक-दूसरे से शादी करने के बाद पुरुष और महिला एक ही पहचान बन जाते हैं। इसका अर्थ है कि आपके साथी की नियति, भाग्य और भाग्य लंबे समय में भी आपको प्रभावित करेंगे। यह नक्षत्र पर निर्भर करता है कि या तो यह सकारात्मक परिणाम देता है या यह निराशाजनक भविष्य की ओर जाता है। यही मुख्य कारण है कि कुंडली मिलान मेकिग विवाह में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार

वैदिक ज्योतिष में, यह आकलन करने के लिए कुंडली मिलान के लिए अश्ट्रोथ मिलान प्रणाली का उपयोग करता है कि संगतता के विभिन्न और विभिन्न पहलुओं पर युगल अंक कितने हैं। इसलिए अगर दंपति इससे अधिक स्कोर करते हैं तो इसका मतलब है कि उनके पास बेहतर संगतता होगी, जबकि लोवे संगतता भागीदारों के बीच खराब संगतता को निर्धारित करती है। कुंडली मिलान के समय के दौरान उनकी मानसिक अनुकूलता, शारीरिक और अनुकूलता जैसे विभिन्न पहलुओं की गणना की जाएगी। उन्होंने कुल 36 अंकों का स्कोर बनाया। प्रेम विवाह समस्या का समाधान प्राप्त करे हमारे विशेषज्ञ से सम्पर्क करे।

ज्योतिषीय चार्ट से मेल खाते समय आठ गुना माना जाता है। ज्योतिषीय चार्ट में प्रत्येक गुन का एक विशिष्ट मान होता है, जो कि कुल आठ तोपों में से कुल 36 से निकलता है। ज्योतिष के अनुसार, यह माना जाता है कि जोड़ों के बीच होने के लिए न्यूनतम 18 अंकों का मेल होना चाहिए। शादीशुदा ज़िन्दगी की शुभकामनाएं। जबकि अगर वें अंक 27 से अधिक हैं तो यह जोड़ों का सबसे अच्छा मैच माना जाता है। इसलिए अगर विवाह से 18 अंक कम हैं तो सलाह नहीं दी जाती है।

Like and Share our Facebook Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *