क्या आप जानते है किस देवता को कौनसे फूल चढ़ाने चाहिए ?

फूल या पुष्प का हर जगह अपना अलग ही महत्व होता है। और जैसे हमारे रिश्ते में हम रिश्ते के अनुसार फूल उपहार स्वरूप देते है जैसे की प्यार का प्रतीक लाल गुलाब, दोस्ती के लिए पिला गुलाब और घर परिवार में सफ़ेद या गुलाबी गुलाब।  वैसे ही भगवान को भी हर तरह का फूल नहीं चढ़ाना चाहिए, शास्त्रो के अनुसार भगवान को भी कुछ रंग और पुष्प प्रिय होते है तो हमे उन्हें उसी तरह का पुष्प अर्पित करना चाहिए जिससे वो हमसे अधिक प्रसन्न हो।

तो आइये जानते है कोनसे भगवान को कोनसा पुष्प प्रिय है , और उसी के अनुसार हम उन्हें पुष्प अर्पित करे।

1. गणेश जी : भगवान गणेश को तुलसी दल के अलावा सभी प्रकार के पुष्प अत्यंत प्रिय हैं। हरी दूर्वा सबसे अधिक प्रिय होता है।

2. महादेव शिव : सफेद रंग के फूलों से शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं। कारण शिव कल्याण के देवता हैं। सफेद शुभ्रता का प्रतीक रंग है।

3. भगवान विष्णु : विष्णु को कमल, मौलसिरी, जूही, कदंब, केवड़ा, चमेली, अशोक, मालती, वैजयंती, चंपा ओर बसंती प्रिय हैं।

4. भगवान सूर्य :पूजा में सूर्य को लाल रंग के फूल चढ़ाने का विधान हैं। सूर्य को लालिमा प्रिय है। वे तेज के पुंज हैं। लाल रंग तेज का प्रतीक है। इसेक अतिरिक्त कमल, कनेर, मौलसिरी, चंपा, पलाश, आक और अशोक के फूल भी चढ़ाए जा सकते हैं। सूर्य भगवान को तगर अर्पित करना वर्जित है।

5. भगवती गौरी : मां गौरी को कनेर, बेला, पलाश, चंपा-चमेली और सफेद कमल के पुष्प अर्पित किए जाते हैं।

6. भगवान श्रीकृष्ण : कृष्ण भगवान को कुमुद, करवरी, चणक मालती, नंदिक, लाश और वनमाला के फूल खासे प्रिय हैं।

7. काली : कालरात्रि को गुरहल का फूल बहुत पसंद है।

8. लक्ष्मीजी : धनलक्ष्मी को कमल-पुष्प सर्वाधिक प्रिय हैं। कमल की आठ पंखुडियां मनुष्य के अलग-अलग 8 गुणों की प्रतीक हैं, ये गुण हैं दया, शांति, पवित्रता, मंगल, निस्पृहता, सरलता, ईष्र्या का अभाव और उदारता है।

9. सरस्वती माँ : माँ सरस्वती ज्ञान और संगीत की देवी है। और शुभ्रता की प्रतीक है । सफेद गुलाब, सफेद कनेर, चम्पा एवं गेंदे के फूल से मां खुश होती हैं। इससे ज्ञान एवं बौद्घिक क्षमता बढ़ती है।

हमेशा भगवान को ताजे फूल अर्पित करने चाहिए कभी भी कटे या मुरझाये फूल ना चढ़ाये। और हमेशा फूलो को डंठलों सहित चढ़ाने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *