वास्तु शास्त्र के हिसाब से जाने कैसा हो अतिथि कक्ष या गेस्टरूम

ऐसे बहुत कम लोग है जो इस बात को जानते है कि बैठकरूम और अतिथि कक्ष में फर्क होता है। लेकिन क्या आप जानते है कि वास्तु शास्त्र के हिसाब से अतिथि कक्ष कैसा होना चाहिए और कहा होना चाहिए एवं उस रूम में क्या क्या होना चाहिए और क्या नहीं। आज के लेख में जाने ऐसे ही कुछ ख़ास टिप्स।

अतिथि कक्ष कहा होना चाहिए?

कुछ वास्तुकार के अतिथि कक्ष को वाव्यव कोण में होना लाभपद्र मानते है। क्योकि इस दिशा के स्वामी वायु होते है तथा ग्रह चंद्रमा। जैसा कि हम जानते कि वायु का प्रभाव मन पर पड़ता है। अतः वायव्य कोण में अतिथि गृह होने पर अतिथि कुछ ही समय तक रहता है। इसके बाद में आदर सत्कार पाकर वापस लौट जाता है। यही कारण है जिसकी वजह से पारिवारिक मतभेद पैदा नहीं होते है। इस बात को हमेशा याद रखे कि अतिथि कक्ष कभी भी दक्षिण- पश्चिम दिशा यानी कि नैऋत्य में नहीं बनाना चाहिए क्योकि यह दिशा केवल घर के स्वामी के लिए ही होती है। आप आग्नेय कोण अर्थात दक्षिण पूर्वी या दक्षिण दिशा में भी गेस्ट रूम बना सकते है। लेकिन ध्यान रहे कि आप इस बारे में पहले किसी वास्तुशास्त्री से बात कर ले।

अतिथि कक्ष कैसा होना चाहिए?

जब भी अतिथि को किसी कमरे में ठहराए वह कमरा हमेशा साफ़ और व्यवस्थित होना चाहिए। गेस्ट रूम का दरवाजा वास्तु शास्त्र के हिसाब से पूर्व दिशा में या फिर दक्षिण दिशा में होना चाहिए। गेस्ट रूम की खिड़की उत्तर दिशा, पश्चिमी दिशा या फिर उत्तर पूर्व कोने में होनी चाहिए। अगर गेस्ट रूम वायव्य कोण या फिर आग्नेय कोण में है तो आपको इस रूम का बाथरूम नैऋत्‍य कोण में बनाना चाहि‍ए और उत्तर पूर्वी कोने में एक खि‍ड़की जरूर रखना चाहि‍ए। उत्तर-पूर्वी दि‍शा में बना पूर्वमुखी या उत्तरमुखी दरवाजा गेस्‍टरूम के लि‍ए सबसे उत्तम होता है। अगर आपके घर में वास्तु दोष है तो आप वास्तु दोष निवारण भी कर सकते है।

क्या क्या होना चाहिए?

कभी भी गेस्ट रूम में भारी भरकम लोहे का सामान नहीं रखना चाहिए। वरना अतिथि को लगेगा कि आप उसे बोझ समझा जा रहा है। यह ऐसी अवस्था होती है जब मेहमान तनाव महसूस कर सकता है जितना हो सके आप इस रूम को खाली रखे। इस रूम में रखने के लिए आप फोल्डिंग बेड, सोफा कम बेड या फिर दो अलग अलग बेड का भी इस्तेमाल कर सकते है। ऐसा करने से कमरा भरा भरा भी नहीं दिखेगा और सुविधायुक्त भी रहेगा। कमरे में एक ऐसी अलमारी की भी व्यवस्था करे, जिसमे मेहमान अपने कपडे रख सके।

For more information visit Astro Yatra.

For more latest updates like our Facebook Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *