Category Archives: vaastu

vastu tips for guest rooms

वास्तु शास्त्र के हिसाब से जाने कैसा हो अतिथि कक्ष या गेस्टरूम

ऐसे बहुत कम लोग है जो इस बात को जानते है कि बैठकरूम और अतिथि कक्ष में फर्क होता है। लेकिन क्या आप जानते है कि वास्तु शास्त्र के हिसाब से अतिथि कक्ष कैसा होना चाहिए और कहा होना चाहिए एवं उस रूम में क्या क्या होना चाहिए और क्या नहीं। आज के लेख में जाने ऐसे ही कुछ ख़ास टिप्स।

अतिथि कक्ष कहा होना चाहिए?

कुछ वास्तुकार के अतिथि कक्ष को वाव्यव कोण में होना लाभपद्र मानते है। क्योकि इस दिशा के स्वामी वायु होते है तथा ग्रह चंद्रमा। जैसा कि हम जानते कि वायु का प्रभाव मन पर पड़ता है। अतः वायव्य कोण में अतिथि गृह होने पर अतिथि कुछ ही समय तक रहता है। इसके बाद में आदर सत्कार पाकर वापस लौट जाता है। यही कारण है जिसकी वजह से पारिवारिक मतभेद पैदा नहीं होते है। इस बात को हमेशा याद रखे कि अतिथि कक्ष कभी भी दक्षिण- पश्चिम दिशा यानी कि नैऋत्य में नहीं बनाना चाहिए क्योकि यह दिशा केवल घर के स्वामी के लिए ही होती है। आप आग्नेय कोण अर्थात दक्षिण पूर्वी या दक्षिण दिशा में भी गेस्ट रूम बना सकते है। लेकिन ध्यान रहे कि आप इस बारे में पहले किसी वास्तुशास्त्री से बात कर ले।

अतिथि कक्ष कैसा होना चाहिए?

जब भी अतिथि को किसी कमरे में ठहराए वह कमरा हमेशा साफ़ और व्यवस्थित होना चाहिए। गेस्ट रूम का दरवाजा वास्तु शास्त्र के हिसाब से पूर्व दिशा में या फिर दक्षिण दिशा में होना चाहिए। गेस्ट रूम की खिड़की उत्तर दिशा, पश्चिमी दिशा या फिर उत्तर पूर्व कोने में होनी चाहिए। अगर गेस्ट रूम वायव्य कोण या फिर आग्नेय कोण में है तो आपको इस रूम का बाथरूम नैऋत्‍य कोण में बनाना चाहि‍ए और उत्तर पूर्वी कोने में एक खि‍ड़की जरूर रखना चाहि‍ए। उत्तर-पूर्वी दि‍शा में बना पूर्वमुखी या उत्तरमुखी दरवाजा गेस्‍टरूम के लि‍ए सबसे उत्तम होता है। अगर आपके घर में वास्तु दोष है तो आप वास्तु दोष निवारण भी कर सकते है।

क्या क्या होना चाहिए?

कभी भी गेस्ट रूम में भारी भरकम लोहे का सामान नहीं रखना चाहिए। वरना अतिथि को लगेगा कि आप उसे बोझ समझा जा रहा है। यह ऐसी अवस्था होती है जब मेहमान तनाव महसूस कर सकता है जितना हो सके आप इस रूम को खाली रखे। इस रूम में रखने के लिए आप फोल्डिंग बेड, सोफा कम बेड या फिर दो अलग अलग बेड का भी इस्तेमाल कर सकते है। ऐसा करने से कमरा भरा भरा भी नहीं दिखेगा और सुविधायुक्त भी रहेगा। कमरे में एक ऐसी अलमारी की भी व्यवस्था करे, जिसमे मेहमान अपने कपडे रख सके।

For more information visit Astro Yatra.

For more latest updates like our Facebook Page.

importance of north east corner of house

घर बनाते समय आखिर ईशान कोण का क्या महत्व होता है?

जैसा की हम जानते है कि रोटी, कपडा और मकान हर इंसान की मूलभूत आवश्यकताए है। इसी के अभाव में संसार में मानव मात्र का ही जीवनयापन करना बहुत ही कठिन एवं दुष्कर हो जाता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि कई चीजों को प्राप्त करने के चक्कर में हम जीवन में इन सुखो का उपभोग नहीं कर पाते है। सबसे पहला कारण है इसके पीछे हमारी जीवनशैली जो कि हमें पाश्चात्य जगत की ओर आकर्षित कर रही है किन्तु हमें हमारी मूल संस्कृति एवं परम्पराओ से विलग कर रही है।

 ईशान कोण का महत्व 

जब भी किसी मकान का निर्माण होता है तो उसमे ईशान कोण का एक अपना ही अलग महत्व होता है। आज के लेख में हम आपको ईशान कोण से जुडी हुई कुछ जानकारी देंगे। आज के दौर में भोजन, कपडा इसी के साथ साथ एक और सपना होता है। आजकल हर इंसान खुद का मकान प्राप्त करने के लिए बहुत से परिश्रम करता है लेकिन अक्सर यह देखने को मिलता है कि जब किसी भी इंसान का यह स्वपन पूरा होता है तो वह उससे उतना सुख प्राप्त नहीं कर पाते जितनी अपेक्षा करते है। इसी वजह से वह निराशा से घिर जाते है। लेकिन इसके पीछे मुख्य कारण है वास्तु दोष।

जब भी किसी घर का निर्माण हो तो सबसे आवश्यक बात ध्यान में रखने की होती है वह है वास्तु। आज के फैशनपरस्त युग में ऐसे कई लोग है जिसकी उपेक्षा कर के भवन निर्माण के पश्चात शारीरिक, मानसिक और आर्थिक क्षति उठाते है। जैसा की हम जानते है की वास्तु शास्त्र में बहुत सी बाते ध्यान रखना बहुत ही आवश्यक होता है लेकिन सबसे ज्यादा महत्व होता है ईशान कोण का।

ईशान कोण को ईश यानी कि भगवान का प्रमुख क्षेत्र माना जाता है। जब भी किसी मकान का निर्माण होता है तो उस समय ईशान कोण और ब्रह्म स्थान यानी की मध्य स्थान की पवित्रता का समुचित ध्यान रखा जाता बहुत ही आवश्यक है। तो ऐसा ना करने पर भवन स्वामी अनेकानेक परेशानियों से ग्रस्त हो जाता है। जनमानस में यह भ्रांति है की ईशान कोण केवल उत्तर पूर्व के कोने को कहा जाता है। लेकिन वास्तविकता में वास्तु कोनो का निर्धारण समूचे भूखंड को नौ खंडो में बराबर बराबर विभक्त करने से होता है।

जो घर का ईशान कोण होता है उसमे मंदिर के अलावा कोई भी निर्माण नहीं होना चाहिए। ऐसी मान्यता है की ईशान कोण में टॉयलेट, बाथरूम और पानी की टंकी जैसे भारयुक्त निर्माण का भी निषेध है। कहा जाता है ईशान कोण किसी भी तरह से भारयुक्त नहीं होना चाहिए। माना जाता है कि किसी भी घर का ईशान कोण एवं ब्रह्म स्थान जितना शुद्ध और पवित्र होगा उतना ही उस भवन का स्वामी सुख और समृद्धिशाली होगा। तो जब भी अपने भवन का निर्माण करवाए तो उस समय वास्तु दोष और ईशान कोण के बारे में अच्छे से जान ले।

4 Vastu Tips everyone should know

4 Vastu Shastra Tips Everyone Should Know

Vastu Shastra plays a very important role in our life. It helps to bring prosperity and happiness. Therefore Vastu is so reasonable based on analytical science but no assumptions. Vastu Shastra is an act that works upon a given space and allows positive energy to flow. One of the best parts of Vastu Shastra that guidelines are easy and simple to follow. Consequently, flexibility allows almost all the constructions to apply the Vastu principles. Additionally, the Vastu extracts energy from all the five basic elements of nature, for instance, they are the solar energy means sun, the lunar energy means moon, earth’s magnetic energy means earth and fire energy means fire. Therefore the balance of all the elements bring the nature prosperity in the life of a person

Get the 4 best Vastu tips:

For survival, man needs three essential things: food, air, and shelter. At the time of the shelter, you need to take care of some of the things according to the Vastu Shastra which is as follows.

  1. Bedroom

The bedroom is the only place where you can able to relax and forget all the worries and it gives a break from the stress. This is the room that enables you to have a sound sleep and helps to rejuvenate you for the next day. According to a survey it was recorded that nearly 1/3rd of the life goes in the sleeping but on the other hand if the bedroom is designed as per the Vastu Shastra principles then it will take care of this 1/3rd of the life. South West or the South is the ideal place to have the bedroom because it also applies to the master bedroom. As well as the entrance should be located in the north or east but not in the southwest.

  1. Sleeping Direction

The head of the person should be in the south and legs should be towards the northern direction for a sound and a peaceful sleep. On the other hand, you should never ever place your head in the north direction as it may cause ill health, bad dreams, and insomnia. Additionally sleeping with your head towards the east direction is the most effective quadrant, particularly for the students because this is the place where all the positive energy is stored. For the reason, students get up early in the morning and can turn to the right side and get the energy of the sun. This is the way by which you can able to start your day with positive energy and never face issues in education and jobs.

  1. Prayer Room

A bedroom is the most significant place in the house and after its prayer room. When you place the pictures of your deities it should be on the eastern side only. As well as keep in mind that never place pictures of the deceased person with the deities but on the outside of the altar. When you are building your prayer room, then do not build it under the staircase because it is not considered auspicious. If you have space under the staircase then you can use it for the storage. The pictures of the deities should be placed on the east that the ward can pray to face the east.

  1. Tulsi Plant

If you have tulsi at home then it is so auspicious in front of the house. It helps towards all the negative influences from your house. Thus the tulsi plant should be located in front of the house to the main entrance and the ideal place is east.

Like & Share our Facebook Page.

परीक्षा और इंटरव्यू में फटाफट सफलता के लिए करें 

परीक्षा और इंटरव्यू में फटाफट सफलता के लिए करें 

हर विद्यार्थी वर्ष भर अपनी पढ़ाई में कठिन परिश्रम करता है ताकि परीक्षा में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सके, वैसे ही प्रतियोगिता परीक्षा देने वाले  विद्यार्थी भी पढ़ाई के लिए  रात  दिन एक करते है। अपने भाग्य और कड़ी मेहनत के बल पर ही कोई भी विद्यार्थी परीक्षा में श्रेष्ठ अंकों में उत्तीर्ण हो सकता है।  लेकिन कई बार भाग्य की बाधा  के कारण कठिन परिश्रम करने के बाद भी कई विद्यार्थी को उचित परिणाम नहीं मिल  पता है। इस कारण निराश हो जाते है और कई  विद्यार्थी आत्महत्या कर लेते है।   अगर आप भी परेशान  है और कड़ी मेहनत के  बावजूद भी आपको सफलता नहीं मिल रही है तो यहां पर अचूक उपाय बताये गए है।  जिसकी मदद से आप आसानी से परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हो।

ब्राम्ही का सेवन करने वाले विद्यार्थी परीक्षा में सफल होते हैं।

विद्यार्थियों को परीक्षा में उत्तर भूल जाने की आदत हो, तो  परीक्षा में अपने पास कपूर और फिटकरी रखनी चाहिए। यह नकारात्मक ऊर्जा को हटाते हैं।

भगवान गणेश को हर बुधवार के दिन दूर्वा चढ़ाने से  विद्यार्थियों में कुशाग्र बुद्धि विकसित होती है।

परीक्षा में जाने से पूर्व मीठे दही पर तुलसी के पत्ते रखकर ग्रहण करके घर से निकलें।

कठिन विषय की पाठ्य  पुस्तकों में गुरुवार के दिन मोरपंख रखें।

विद्यार्थियों को पठाई करते समय अपना मुंह पूर्व या उत्तर की ओर रखना चाहिए।

नवरात्रि में घर ले आये इनमे से कोई एक चीज किस्मत बदल देगी माता रानी

नवरात्रि में घर ले आये इनमे से कोई एक चीज किस्मत बदल देगी माता रानी

नवरात्रि में माँ की पूजा अर्चना  का विशेष माना जाता है। अगर नवरात्रि में कोई विशि विधान से माँ की पूजा अर्चना करे तो उसकी हर मनोकामना पूरी होती है।  वास्तु शास्त्रों के अनुसार कुछ ऐसी वास्तु बताई गयी है जिनका खास संबंध किसी विशेष देवी-देवता या दिन से माना जाता है। वास्तु के अनुसार, अगर  नवरात्र के दौरान घर में वास्तु लाई जाएं तो देवी प्रसन्न होती हैं और घर-परिवार पर देवी की विशेष कृपा बनी रहती है।

आईये जानते है उन वस्तु के बारे में।

देवी लक्ष्मी की तस्वीर :- देवी लक्ष्मी  की तस्वीर घर ले आये। जिसमे माँ कमल के फूल पर विराजमान हो।  इससे माँ लक्ष्मी और दुर्गा का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

मोर पंख :-  मोर पंख को माँ सरस्वती का  वाहन माना गया है।  मोर पंख को नवरात्रि के दौरान घर ले आये और उसे घर के मंदिर में रख दे।  इससे माँ की कृपा  होगी और घर में सुख शांति आएगी।

सोलह श्रृंगार का सामान :-  माँ को सोलह श्रृंगार चढाने से माँ की कृपा होती है।   नवरात्रि में  सोलह श्रृंगार ले आये और माँ दुर्गा को चढ़ाये। इससे माँ का आशीर्वाद मिलेगा और मनोकामना पूर्ण होगी।

नवरात्रि के दौरान घर में चांदी और सोने का सिक्का लाना अच्छा माना जाता है।  इससे माँ लक्ष्मी और नौ  देवियों का आशीर्वाद आपको प्राप्त होगा।

 

 

 

 

फंसा हुआ धन प्राप्त करने के उपाय

फंसा हुआ धन प्राप्त करने के उपाय

 

कई बार लोग किसी को अपना धन देते है। या तो किसी बिजनेस,  दुकान, मकान, प्लाट, किसी कंपनी या किसी सरकारी विभागों से कोई काम निकलवाने के धन दे देते है  लेकिन कई बार वो समय के साथ लौटाता नहीं है।  इससे कई काम बिगड़ जाते है और किसी से अपना धन निकलवाना एक सिर दर्द बन  जाता है।  रिलेशन खराब हो जाते है। अगर आप भी इस परिस्थिति में है और किसी से उधार धन निकलवाने के हर संभव कार्य कर लिए लेकिन अभी तक सम्भव नहीं हो पाया तो आप यह पर कुछ उपाय दिए गए है जिसकी मदद से आप अटका हुआ धन आसानी से निकलवा सकते है।

यदि आपका धन किसी के पास फंस गया है और वह उसे वापस नहीं कर रहा या देने से इंकार कर दिया तो आप रोज सुबह नहाने के पश्चात एक ताम्बे के पात्र में जल लेकर उसमें लाल मिर्च के 11 बीज डालकर सूर्यदेव को जल अर्पण करे उनसे अपने पैसे वापसी के लिए प्रार्थना करें।। इसके साथ ही “ओम आदित्याय नमः” की नित्य एक माला का जाप करें। इससे  ऋणी का मन धन देने के प्रति परिवर्तित होगा।

यदि आपने धन किसी रिश्तेदार को दिया लेकिन वो धन लौटाने का नाम नहीं ले रहा।  और आप सम्बन्ध ख़राब होने से डर  रहे है तो  शुक्रवार को कपूर को जला कर उसका काजल बना ले। फिर एक भोजपत्र पर उस व्यक्ति का नाम लिखे जिसके पास आपका धन है। इसके बाद आप उस कागज़ पर 7 बार थपकी देते हुए उस व्यक्ति से अपने धन की वापसी के लिए कहें फिर उस भोजपत्र को अपनी तिजोरी / अलमारी / बक्सा जहाँ पर आप धन रखते है उसके नीचे दबा दें।

बहुत जल्दी ही सभी धन लोटा देंगे। अधिक जानकारी के लिए आप हमारे विशेषज्ञ से सम्पर्क कर सकते है।

इन 4 से बचें नहीं तो माँ लक्ष्मी हो जाती है नाराज

इन 4 से बचें नहीं तो माँ लक्ष्मी हो जाती है नाराज

माँ लक्ष्मी की असीम अनुकृपा हर किसी पर नहीं होती है लेकिन हर कोई माँ की अनुकृपा प्राप्त करने के लिए प्राथना करते है।  कई बार पूजा पाठ करने  के बाद भी उचित फल की प्राप्ति नहीं होती है।  और कई परेशनियो और पैसो की कमी का सामना करना पड़ता है।  ज्योतिष शास्त्रों में इसके पीछे के कई कारण बताये है।  जिसके कारण माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त नहीं होती है और कई दुखो और परेशानियों  का  सामना करना पड़ता है।

आईये जानते है माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए किन चीजों को करने से बचना चाहिए।

पूजा करते समय या कोई  कभी काम करते समय ऊंघना नहीं चाहिए।  ऐसा करने पर माँ लक्ष्मी की कृपा नहीं मिलती है।

बहुत ज्यादा सोना :- जरूरत से ज्यादा सोना  दरिद्रता का कारण माना जाता है।  ज्यादा सोना और समय का खोना है।  इसलिए हमे उतना ही सोना चाहिए जितना स्वस्थ के लिए लाभदायक हो।  इससे माँ लक्ष्मी की कृपा भी बनी रहती है।

 

आलस्य :- आलस्य  सफलता के मार्ग में सबसे बड़ी बाधा है। सफलता और समृद्धि के लिए सबसे पहले आलस्य को छोड़ना चाहिए।  आलस्य दूर होगा तो काम भी पुरे होंगे और माँ लक्ष्मी की कृपा भी होगी।

 

क्रोध :- क्रोध व्यक्ति ले कार्य की सबसे बड़ी रुकावट है।  जहा पर इंसान क्रोध करता है वहा पर माँ लक्ष्मी का निवास नहीं होता है।  इसलिए क्रोध को कभी खुद पर हावी ना होने दे।

जिस घर में होता है ये पौधा, उसे छोड़कर नहीं जातीं देवी लक्ष्मी

जिस घर में होता है ये पौधा, उसे छोड़कर नहीं जातीं देवी लक्ष्मी

 

हमारी संस्कृति में वृक्षों को देवता का रूप माना जाता है। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार कुछ पौधे ऐसे होते है जिनको रोपने , जल चढाने और पूजा करने से समस्याओ का समाधान होता है।  आज हम ऐसे ही पौधे के बारे में बात करने जा रहे है।

तुलसी

जिस घर में रोज तुलसी की पूजा होती है। उस घर में हमेशा सुख समृद्धि और वैभव बना रहता है और देवी लक्ष्मी उस घर को कभी छोड़ कर नहीं जाती है।

पीपल

हिन्दू धर्म में पीपल के पौधे का विशेष महत्व होता है। शास्त्रों के अनुसार पीपल की पूजा करने से भगवान विष्णु की कृपा होती है और शनि दोष से मुक्ति मिलती है।

बरगद

इसको वट और बड़ वृक्ष भी बोलते है। जो स्त्रिया इसकी पूजा करती है उसका सौभाग्य अखण्ड रहता है और संतान संबंधित समस्या दूर होती है।

आंवला

शास्त्रों के अनुसार आंवले के पेड़ की पूजा करने से माँ लक्ष्मी की कृपा होती है।  पूजा करने वाले को धन संबंधित परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता है।

 

बिल्व

बिल्व के पते शिवजी को चढ़ते है। शिवलिंग पर बिल्व पते चढ़ाने से नौकरी में प्रमोशन का योग बनता है।

पाना चाहते हैं सरकारी नौकरी तो करें ये उपाय, जल्दी मिलेगी सफलता

पाना चाहते हैं सरकारी नौकरी तो करें ये उपाय, जल्दी मिलेगी सफलता

 

काफी लोगो का सपना सरकारी नौकरी पाना होता है।  लेकिन कई जतन करने के बाद भी यह सम्भव नहीं होता है। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार कुंडली में कुछ ग्रह दोष होते है जिसके कारण कठिन परिश्रम करने के बाद भी सरकारी नौकरी पाना मुश्किल सा लगता है।  लेकिन ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार उपाय करने से सारे ग्रह दोष से दूर हो जाते  है। अगर आप इस प्रकार की समस्या से गुजर रहे है तो जल्द कीजिये ये उपाय।

सरकारी  नौकरी  पाने के लिए सूर्य, गुरु और शनि ग्रह संबंधित उपाय करने चाहिए।

सूर्य ग्रह :-  सूर्य ग्रह के लिए रोज सुबह जल्द स्नान कर के आदित्य ह्दय स्त्रोत का पाठ करे।  ताम्बे के लोटे से जल चढ़ाये।

सूर्य को जल चढ़ाते समय ॐ घृणि सूर्याय नम: या गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए।

कुंडली में गुरु ग्रह के अगर सही योग नहीं होते है तो भी सरकारी नौकरी पाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है।  गुरु ग्रह  के लिए भगवान शिव की पूजा करे और पीली  वस्तुओ का दान करे।  जिससे दोष दूर  होंगे।

हर शनिवार शनि मंदिर जाये। वहा पर शनि देव के मंत्र शं  शनैश्चराय नम:  का जाप कम से कम १०८ बार करे।

 

 

किस्मत चमका देती है वास्तु की ये 5 बातें, ध्यान रखने पर मिलती है सक्सेस

किस्मत चमका देती है वास्तु की ये 5 बातें, ध्यान रखने पर मिलती है सक्सेस

 

हर इंसान का अपने जीवन में कुछ ना कुछ लक्ष्य होता है जिसको प्राप्त करने के लिए रात दिन एक करते है लेकिन फिर भी लक्ष्य को प्राप्त करने में उन्हें कठिनाई होती है। अगर आप इस प्रकार की समस्या से गुजर रहे है या पैसो की कमी संबंधित परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो आप  वास्तु शास्त्र और फेंगसुई के अनुसार इस प्रकार की समस्या से उभर सकते है।

न करे अग्नि का अपमान :- अग्नि को देवता माना जाता है, इसलिए हमे अग्नि से जुडी हुयी बातो का ध्यान रखना चाहिए।  जैसे किसी भी दिए, माचिस और मोमबत्ती को कभी भी फूंक मारकर न बुझाये। कभी भी जलती हुई माचिस की तीली को पैरो से न बुझाये।  ऐसा करना अशुभ होता है और अग्नि का अपमान होता है।

आईना सकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत होता है।  किचन में आईना उत्तर दिशा की दीवार पर आईना लगाए।  जिससे घर में कभी भी अन्न और धन की कमी नहीं होगी।  परिवार में लोग खुशहाली के साथ जीवन व्यापन करेंगे।

गणेश जी बुद्धि, समृद्धि और शांति के देवता है।  इनकी मूर्ति घर और ऑफिस में रखने से कभी नकारात्मक ऊर्जा घर के अंदर प्रवेश नहीं करती है।  कार्य में आ रही रुकावट दूर हो जाती है।  मूर्ति को ऐसे रखे की उसका मुँह दक्षिण और पूर्व में होना चाहिए।

 

 

 

 

 

ये  आसान उपाय झट से  दूर करेंगे आपकी परेशानियां

ये  आसान उपाय झट से  दूर करेंगे आपकी परेशानियां

वैसे तो रोज की  छोटी मोटी परेशानिया और लड़ाई आम बात है लेकिन कभी कभार परेशानिया बहुत बढ़ जाती है जिसकी वजह से घर के लोगो में आपसी मन मुटाव आ जाता है घर में अशांति फ़ैल जाती है।  कभी कभार वाद विवाद बड़ी घटना का रूप ले लेते है। घर के लोगो के बीच आपसी प्यार को बनाये रखने के लिए और घर में शांति को बर करार रखने के लिए  यहां पर कुछ अचूक उपाय बताये जा रहे है जिसकी मदद से बाद अपने घर की खोयी हुयी शांति को वापस ला सकते है।

रोज सुबह  सूर्योदय से समय घर के मटके से एक लोटा पानी भर ले जिसमे अभी पानी पीते हो।  उस जल को अपने घर के  प्रत्येक कमरे में।  घर की छत पर छिड़कें।  छिड़कते समय ॐ नमो ॐ मंत्र का जाप करे और किसी से बात  नहीं करे।

अगर आपके घर में  बरकत नहीं हो रही है।  घर में पैसा नहीं  टिकता है तो आपको रास्ते  में जाते समय या कही किन्नर दिखाई से तो  उसे कुछ रूपये भेंट करे और  उसके बाद  उस  किन्नर से आप एक रुपया  मांग। उस एक रूपये के सिक्के को अपनी तिजोरी या धन के स्थान पर रखे।

भगवान शिव सभी की इच्छा पूरी करते है।  सोमवार के दिन किसी भी शिव मंदिर जाकर शिवलिंग पर दूध और काले तिल से अभिषेक करे।  अभिषेक करने के लिए तांबे के बर्तन को छोड़कर किसी अन्य बर्तन का प्रयोग करे ।  अभिषेक करते समय ऊँ जूं स: मंत्र का जाप करते रहें। उसके बाद भगवान शिव से परेशानी को दूर  करने के लिए प्रार्थना करे।    भगवान  शिव की कृपा से आप जल्दी ही रोग मुक्त हो जाएंगे और घर की सारी परेशानिया ख़त्म हो जाएगी।

आप बेरोजगारी की समस्या से गुजर रहे हो , नौकरी नहीं होने के कारन आपको परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो शनिवार के दिन हनुमान जी के मंदिर में जा कर घी का दीपक जलाये कर सवा किलो के लड्डू का भोग लगाए।   फिर  लाल चंदन की माला ले कर १० ८ बार जाप करे इन चौपाई  के साथ:

कवन सो काज कठिन जग माही।

जो नहीं होय तात तुम पाहिं।।

Astro Vastu tips for Office

 

Vastu Shastra is becoming very popular day by day. Lots of peoples started using of Vastu Shastra for getting the benefits and improvement. Vastu Shastra gives and very effective results just cause of that, people’s start using this for office, home, garden, kitchen, bedroom, for living space etc.

Using of Vastu Shastra for office will bless you by very big profit and big success in business. Vastu is just related to the using of right direction and interior designs. Just check it out these following tips which are given below and use this in your office for better performance of the employees and for better success results.

There should be no obstacles in front of the door or main entrance.

The Central part of the office should be vacant.

Account department should be located in the southeastern part.

Administration and human resource department should be in the east part.

Office reception should be placed in the North West

A water cooler or water resources should place in the north east corner.

The boss room should occupy space in the south west and should be away from main entrance.

If it is possible then using of Aquarium of 9 golden fish and 1 blackfish will be very beneficial for the business and it should be placed in the northeast.

Staff work should be done facing towards North or the east direction.

Avoid the high light beams in the office if it is not possible to avoid the cover it by using of a false or wooden ceiling.

Toilets should be located in the northeast or southwest direction.

If there is the temple in the office then it should be ideally located in The Northeast portion.

Conference room are the best placed in the northwest part.

Vastu shastra recommend using colours like white, blue and grey for office.

These are the some tips of Vastu shastra which will remove the all negative energies and allow increasing the success and health energy level in your office