अशोक के पेड़ के चमत्कारी लाभ-

पुराणो के अनुसार भी पेड़ो की बहुत महत्ता बताई गई है , हर पेड़ में कुछ ना कुछ गुण होता है इसीलिए आज हम यंहा पर अशोका के पेड़ के बारे में बात करेंगे।  वेसे तो सभी अवसरों पर इसका प्रयोग होता है और आसानी से हम इसे आपने आस पास देख सकते है।  अशोक के पत्तों का उपयोग घर की सजावट में और अन्य पूजन संबंधी कार्यों में किया जाता है।

रामायण के अनुसार भी जब रावण सीता माता का हरण करके लेकर गया था और लंका में जिस वृक्ष के नीचे उन्हें रखा था वह यही वृक्ष था इसीलिए शोक के कारण इस पेड़ का नाम तब से अशोका पड़ गया।  ऐसा भी माना जाता है की अशोका के वृक्ष के नीचे की आराधना के फल बहुत जल्दी प्राप्त होते है।  यदि किसी व्यक्ति के घर में धन सम्बन्धी प्रॉब्लम है तो वह व्यक्ति अशोक के वृक्ष को घर में लाकर अपनी इस समस्या को दूर कर सकता है।  घर में देवी देवताओ से सामने अशोका के सात पत्ते रखने से भी पति पत्नी के बिच प्रेम बढ़ता है।  और यदि पत्ते मुरझा जाते है तो उनकी जगह नये पत्ते रख देने चाहिए तथा पुराने पत्तो को पीपल के पेड़ के नीचे डाल देना चाहिए।

यदि घर में कोई मांगलिक उत्सव मनाया जाए या कोई त्यौहार हो या कोई विवाह आदि कार्यक्रम हो तो अशोक के पत्तों की वंदनवार लगाएं क्योकि इसके प्रभाव से घर में सुख शांति बनी रहती है।  औषधि   के रूप में भी यह बहुत फायदेमंद होता है अशोकारिष्ट भी इसी से बनने वाली दवा है।  यदि कोई व्यक्ति अशोक के वृक्ष के फूल को पीसकर शहद के साथ सेवन करें तो उसे स्वास्थ्य संबंधी कई लाभ मिलते हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Slot Online