Astro Yatra
India Free Classifieds

Astrology Tips

जानिए क्यों दरिद्र बना देता है कुंडली मे बनने वाला केमद्रुम योग?

दरिद्रता की पराकाष्ठा लेकर आता है जीवन में ये योग जिसे केमद्रुम योग कहते हैं
केमद्रुमे भवति पुत्रकलत्रहीनो देशान्तरे दु:खसमाभितप्त
ज्ञातिप्रमोदनिरतो मुखर: कुचैलो नीच सदा भव.....

और भी...

कालसर्प दोष : यह हैं 13 लक्षण और 11 उपाय

कालसर्प दोष से पीड़ित जातकों के लिए सरल उपाय...
 
जिन व्यक्तियों की जन्म पत्रिका में कालसर्प दोष हो या जिनके हाथ से जाने-अनजाने सर्प की हत्या हुई हो, उनके जीवन में बहुत अधिक उतार-.....

और भी...

7 अशुभ योग, जिनकी वजह से पति-पत्नी के बीच होते हैं झगड़े

पति-पत्नी के बीच छोटे-छोटे झगड़े होना बहुत ही आम बात है, लेकिन जब ये झगड़े बार-बार और होने लगे तो स्थिति ज्यादा बिगड़ जाती है। वैवाहिक में प्रेम बना रहे इसके लिए पति-पत्नी के बीच तालमेल होना ब.....

और भी...

पितृ दोष और उपचार

मृत्यु के पश्चात संतान अपने पिता का श्राद्ध नहीं करते हैं एवं उनका जीवित अवस्था में अनादर करते हैं तो पुनर्जन्म में उनकी कुण्डली में पितृदोष ( पीट्रा दोषा) लगता है. सर्प हत्या या किसी निरपर.....

और भी...

कैसे करें अपने नए घर में प्रवेश, जानिए 20 जरूरी बातें

घर चाहे स्वयं का बनाया हो या फिर किराये का। जब हम प्रवेश करते हैं तो नई आशा, नए सपने, नई उमंग स्वाभाविक रूप से मन में हिलोर लेती है। नया घर हमारे लिए मंगलमयी हो, प्रगतिकारक हो, य.....

और भी...

सप्तम भाव में शनि हो तो क्यूँ विवाह में देरी होती है

शनि 7 वें घर में सबसे मजबूत होता है जहां वह दिकबली (दिशात्मक ताकत) होता है।
 
यह सामान्य राय है कि 7 वें घर में शनि शादी में विलंब का कारण बनता ह.....

और भी...

क्या आपकी कुंडली के ग्रह अस्त हैं?

 
अस्त ग्रह और उनके फल
 
ज्योतिष शास्त्र में अस्त ग्रह के परिणामों की विशद व्याख्या मिलती है। अस्तग्रहों के बारे में यह कहा जाता है : &.....

और भी...

जन्मकुंडली के ये 10 घातक योग, तुरंत करें ये उपाय

जन्म कुंडली में 2 या उससे ज्यादा ग्रहों की युति, दृष्टि, भाव आदि के मेल से योग का निर्माण होता है। ग्रहों के योगों को ज्योतिष फलादेश का आधार माना गया है। अशुभ योग के कारण व्यक्.....

और भी...

विवाह मुहर्त मे ध्यान रखने योग्य बात

ज्येष्ठा विचार ज्येष्ठ मास में उत्पन्न व्यक्ति का ज्येष्ठा नक्षत्र हो तो ज्येष्ठ मास में विवाह वर्जित होता है। वर और कन्या दोनों का जन्म ज्येष्ठ मास में हुआ हो, तो.....

और भी...

कुंडली मे चंद्र के विपरीत प्रभाव

चंद्र ग्रह विपरीत होने पर आपकी संतान आपसे दूर रहेना चाहती है या रहना पड़ता है|
😢ज्यादा खर्च के बाद में आपका घ.....

और भी...

ज्योतिष ज्ञान

img

पुत्र प्राप्ति यन्त्र

रविवार के दिन सर्पाक्षी के पत्तो से युक्त डाली लाकर एक...

Click here
img

कुन्डली रहस्य

पंचम भाव में शनि मंगल लग्नेष के साथ हो तो...

Click here
img

संतान का लिंग बताता है चीनी कैलेंडर

मनचाही संतान प्रापित के लिए सवरोदय विज्ञान का...

Click here
img

रत्नों की जांच कैसे हो

कभी भी ज्योतिष की सलाह के बिना रत्न धारण नहीं...

Click here
img

रूद्राक्ष के प्रयोग

यदि मन्त्र षकित (विधान) के साथ धारण किया...

Click here
img

ग्रह दान वस्तु चक्रम

टीका-साधु, ब्रáणों और भूखों को भोजन कराने...

Click here
img

मंगली दोश के उपाय

जातक के लग्न में अषुभ मंगल होने से मंगली दोश बनता हो तो जातक को...

Click here