logo
India Free Classifieds

दिसम्बर महीने के दौरान ग्रहो की स्थिति -

बुध का उदय और मार्गी होना : पिछले कुछ दिनो से अस्त और वक्री चल रहे बुध ग्रह 3 दिसम्बर को उदय हो जायेगे, और फ़िर 7 दिसम्बर से मार्गी चाल में आयेंगे | जिसका लाभ मिथुन और कन्या राशि वालो को मिलेगा | 
गुरु ग्रह का उदय होना : पिछले कुछ दिनो से अस्त चल रहे गुरु ग्रह 10 दिसम्बर से उदय हो जायेगे, जिस का लाभ धनु और मीन राशि वालो को मिलेगा | 
सुर्य राशि परिवर्तन : 15 दिसम्बर को सुर्य अगले 30 दिन के लिए धनु राशि में प्रवेश करेंगे, इस दिन को धनु संक्रांति कहा जाता है | इसका लाभ सिन्ह राशि वालो को मिलेगा | 
शनि का अस्त होना : सुर्य के धनु में आते ही शनि ग्रह अस्त हो जायेगे,  और नये वर्ष की शुरुआत तक अस्त रहेगे,  इस का प्रभाव मकर और कुंभ राशि पर पडेगा | 
मंगल राशि परिवर्तन : 23 दिसम्बर को मंगल मीन राशि में जायेगे | मित्र राशि में जाने के कारण मेष और वृश्चिक राशि वालो को शुभ फ़ल प्राप्त होंगे | 
गुरु का नक्षत्र परिवर्तन : 25 दिसम्बर को गुरु ग्रह अनुराधा से जेश्ठा नक्षत्र में गोचर करेंगे | 
***************
शुभ और अशुभ योग :
शुक्र के तुला राशि में होने के कारण माल्वय योग दिसम्बर महीने में भी बना रहेगा, यह योग मेष, कर्क, तुला और मकर राशि वालो के लिए विशेष शुभकारी है | 
गुरु और बुध की युति भी सामाजिक कार्यो के लिहाज़ से शुभकारी है, जो कि पूरे दिसम्बर महीने के दौरान बनी रहेगी | यह युति वृषभ, सिन्ह, वृश्चिक और कुम्भ राशि वालो के लिए शुभकारी है | 
मंगल के कुंभ में गोचर के दौरान शनि की 3rd द्रिश्टी में हैं, 22 दिसम्बर तक मेष और वृश्चिक राशि वालो को कार्य में बाधाये परेशान करेगी और श्यन सुख में कमी रहेगी | 
वृश्चिक राशि में गोचर कर रहे बुध और गुरु राहु की द्रिश्टी में हैं, जिनकी भी कुण्डली में राहु की द्रिश्टी बुध और गुरु पर है वो इस समय परेशानी उठायेगे,  उपाये के तौर पर शनिवार के दिन कुछ फ़ल और भोजन का दान किसी गरीब को करे | 
धनु में सुर्य के प्रवेश करते ही, सुर्य शनि ग्रह युद्ध होगा, जिन की कुण्डली में सुर्य शनि की युति या द्रिश्टी है वो नौकरी / व्यापार में परेशानी उठायेगे, पिता से सम्बन्ध खराब होंगे | उपाये के तौर पर शनिवार के दिन शिवलिंग पर जल अरपित करे | 
मंगल के मीन राशि में आने से,  राहु की द्रिश्टी मंगल पर आयेगी, जिस से अंगारक योग बनेगा | जिन की भी कुण्डली में अंगारक योग है वो इस समय दौरान परेशानी उठायेगे | उपाये के तौर पर मंगलवार के दिन गुड की रेवडीया जल प्रवाह करे | 
*************
मार्गशीर्ष महीने में श्री कृष्ण  जी की पूजा करने से विशेष फ़ल प्राप्त होते हैं | 22 दिसम्बर की मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से श्री कृष्ण जी की पूजा करनी चाहिए |
 
astrology consutansy for indias famous astrologers
love & relationship.business job health marriage problem related issue
now click .......https://www.astroyatra.com/talk-to-astrologer/

More एक नज़र

ज्योतिष ज्ञान

img

पुत्र प्राप्ति यन्त्र

रविवार के दिन सर्पाक्षी के पत्तो से युक्त डाली लाकर एक...

Click here
img

कुन्डली रहस्य

पंचम भाव में शनि मंगल लग्नेष के साथ हो तो...

Click here
img

संतान का लिंग बताता है चीनी कैलेंडर

मनचाही संतान प्रापित के लिए सवरोदय विज्ञान का...

Click here
img

रत्नों की जांच कैसे हो

कभी भी ज्योतिष की सलाह के बिना रत्न धारण नहीं...

Click here
img

रूद्राक्ष के प्रयोग

यदि मन्त्र षकित (विधान) के साथ धारण किया...

Click here
img

ग्रह दान वस्तु चक्रम

टीका-साधु, ब्रáणों और भूखों को भोजन कराने...

Click here
img

मंगली दोश के उपाय

जातक के लग्न में अषुभ मंगल होने से मंगली दोश बनता हो तो जातक को...

Click here

Can ask any question