logo
India Free Classifieds

15मई शनि जयन्ती पर विशेष

 15 मई को शनि जयंती है। शनि को न्याय का देवता माना जाता है। शनि ही हमें हमारे कर्मों का फल प्रदान करते हैं। जिन लोगों की कुंडली में शनि की स्थिति अशुभ होती है, उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कार्यों में बाधाएं आती हैं, किसी भी काम में पूरी एकाग्रता नहीं बन पाती है। शनि हर ढाई साल में राशि बदलता है। अभी ये ग्रह धनु राशि में है। राशि बदलने के बाद सभी 12 राशियों पर शनि का असर बदल जाता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार जिन लोगों की कुंडली में शनि अशुभ हो जाता है, उनके दैनिक जीवन में कुछ खास घटनाएं होने लगती हैं, जिनसे हम बिना कुंडली देखे ही ये अंदाजा लगा सकते हैं कि शनि अशुभ हो गया है।
1. जिसकी कुंडली में शनि अशुभ हो जाता है, उनके जूते-चप्पल बार-बार टूट जाते हैं या गुम हो जाते हैं।
 
2. व्यक्ति नया ज्ञान प्राप्त नहीं कर पाता है, पढ़ाई में मन नहीं लगता और इस क्षेत्र में कोई उपलब्धि भी प्राप्त नहीं हो पाती है।
 
3. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि अशुभ हो तो उसका विवाह होते ही ससुराल पक्ष में कोई हानि हो सकती है।
 
4. यदि कोई व्यक्ति घर बनवा रहा है और कोई अशुभ घटना हो जाए तो ये भी शनि के अशुभ होने का संकेत है।
 
5. कुंडली में शनि अशुभ हो जाए तो व्यक्ति का मन बुराई की ओर, कुसंगति, नशे की ओर झुकने लगता है।
 
6. अशुभ शनि के कारण जमा धन का नाश होता है। कोई बीमारी हो सकती है, शरीर कमजोर हो सकता है।
 
7. कुंडली में शनि की विपरीत स्थिति के कारण व्यक्ति आलसी हो जाता है। इस कारण काम ठीक से नहीं हो पाते हैं और सफलता दूर हो जाती है।
 
8. जब किसी व्यक्ति के चेहरे पर हमेशा थकान, तनाव दिखाई देने लगे तो ये भी शनि के अशुभ होने का संकेत है।
 
9. शनि के कारण जवानी में ही व्यक्ति के बाल सफेद हो जाते हैं और बाल झड़ने लगते हैं। व्यक्ति को जोड़ों में दर्द हो सकता है।
 
10. शनि अशुभ होने पर आंखें कमजोर हो जाती हैं, कमर दर्द की शिकायत हो सकती है।

More एक नज़र

ज्योतिष ज्ञान

img

पुत्र प्राप्ति यन्त्र

रविवार के दिन सर्पाक्षी के पत्तो से युक्त डाली लाकर एक...

Click here
img

कुन्डली रहस्य

पंचम भाव में शनि मंगल लग्नेष के साथ हो तो...

Click here
img

संतान का लिंग बताता है चीनी कैलेंडर

मनचाही संतान प्रापित के लिए सवरोदय विज्ञान का...

Click here
img

रत्नों की जांच कैसे हो

कभी भी ज्योतिष की सलाह के बिना रत्न धारण नहीं...

Click here
img

रूद्राक्ष के प्रयोग

यदि मन्त्र षकित (विधान) के साथ धारण किया...

Click here
img

ग्रह दान वस्तु चक्रम

टीका-साधु, ब्रáणों और भूखों को भोजन कराने...

Click here
img

मंगली दोश के उपाय

जातक के लग्न में अषुभ मंगल होने से मंगली दोश बनता हो तो जातक को...

Click here