logo
India Free Classifieds

क्या आपको धन की कमी है -करे ये उपाय

यदि आपके निवास के आग्नेय कोण (पूर्व तथा दक्षिण का कोना) में गलती से
 
पानी की व्यवस्था हो गई हो तो यह वास्तुशास्त्र के अनुसार बहतु ही बड़ा दोष है। 
 
इसके निवारण हेतु आप उस स्थान पर 24 घण्टे एक लाल बल्ब जलता रहने दें। 
 
सांयकाल में उस स्थान पर उक दीपक अवश्‍य रखें। इससे धन का आगमन होगा।
 
आर्थिक चिन्ता मुक्त हों
 
आप कभी खाली हाथ घर न आएं यदि आप बाजार से कुछ लाने की स्थिती में 
 
नहीं है तो मार्ग से एक कागज का टुकड़ा ही उठा लायें। घर में धन-धान्य के 
 
आगमन का मार्ग प्रशस्त होगा।
 
                  [धन हानि से बचने का उपाय ]
 
घर में नमक किसी खुले डिब्बे में ना रखें। इससे धन हानि होती है।
 
                               दरिद्रता नाश हेतु
 
घर में जितनें भी दरवाजे हों, उनमें समय समय पर तेल अवश्‍य डालते रहें। उनमें 
 
से ही से आवाज नहीं आनी चाहिए। इससे लक्ष्मी का आगमन होता है।
 
                             लक्ष्मी की अनुकंपा
 
यदि आप गुरूवार को केले के वृक्ष पर सादा जल चढाकर घी का दीपक अर्पित करें 
 
तथा शनिवार को पीपल के वृक्ष में गुड़ दूध मिश्रित मीठा जल व सरसों का तेल 
 
का दीपक चढाएं तो कभी भी आर्थिक रूप से परेशान नहीं रहेंगे तथा लक्ष्मी की 
 
सदा अनुकंपा बनी रहेगी।
 
                      अशुभता से सावधान 
 
यदि किसी दिन  घर का कोई बच्चा सुबह उठते ही कुछ खाने को मांगे अथवा 
 
अकारण रोने लगे तो उस दिन घर के प्रत्येक सदस्य को सावधान रहने की 
 
आवश्‍यक्‍ता है, क्यों कि अशुभता एवं धन हानि का सूचक है।
 
                     धनागम से रोक हटे
 
यदि नियमित रूप से घर की प्रथम रोटी गाय को तथा अन्तिम रोटी कुत्ते को दे 
 
तो धनागमन होनें से कोई नहीं रोक सकता।
 
                         दान द्वारा धनवृद्धि
 
यदि कभी किसी को दान दें तो देहरी में न आनें दें। दान घर की देहरी के अन्दर 
 
से ही दें। इससे धनवृद्धि होती है।
 
                       धन रोकने के उपाय
 
आप अपने निवास में कुछ कच्चा स्थान अवश्‍य रखें। यथा सम्भव यह घर के 
 
मध्य स्थान में हो। यदि आप वहां तुलसी को पौधा लगा दे तों  धन लाभ में कभी 
 
रूकावट नहीं आती सकती।
 
               धनलक्ष्मी से भिक्षा मांगे
 
किसी भी रात्रि में 3 से 5 बजे के मध्य उठें और अपने निवास के उस खुले स्थान 
 
में आ जाएं जहां से आसमान दिखाई देता हो। अब पश्चिम दिशा की ओर मुख 
 
करके अपने दोनों हाथ के पंजो को इस प्रकार मिला लें जैसे आप कुछ मांग रहे 
 
हो। इसके पश्चात् आकाश की ओर देखते हुए धन लक्ष्मी से अपनी सम्पन्नता की 
 
भिक्षा मांगे। फिर दोनों हथेलियों को अपने चेहरे पर फेर लें। कुछ ही दिनों में धन 
 
का आगमन होने लगेगा।
 
                         लक्ष्मी का वास 
 
प्रत्येक शनिवार को घर के मकड़ी के जाले, रद्दी एवं टूटी – फूटी सामग्री आदि 
 
हटाने पर भी लक्ष्मी का वास होता है।
 
                   धन बढ़ाने का उपाय
 
रविवार के दिन पुष्य नक्षत्र में कुषमूल लाकर उसको गंगाजल से स्नान कराकर 
 
देव प्रतिमा की भांति पूजन करें और लाल कपड़े में लपेटकर तिजोरी में रख दें। 
 
प्रतिदिन धूप दीप करें। तिजोरी का धन दिनोंदिन बढ़ता रहेगा।
 
                       धन प्राप्त करना
 
शुक्रवार के दिन कमल पुष्प लाकर लाल वस्त्र में लपेटकर अपनी तिजोरी अथवा 
 
अलमारी में रख दें। धन सरलतापूर्वक प्राप्त हो जायेगा।
 
                  धन का आगमन होना
 
प्रातःकाल उठकर हथेलियों को कुछ क्षण देखकर उन्हें चूमनें और अपने चेहरे पर 3 
 
- 4 बार फिरानें से धनागम होनें लगता है।
 
                      लक्ष्मी का आगमन होना
 
पीपल वृक्ष के नीचे पारद शिवलिंग स्थापित करके प्रतिदिन प्रातः काल उस पर 
 
जल चढ़ाएं और धूप दीप दिखाकर पूजन अर्चन करें। तत्पश्‍चात् 5 माला निम्न 
 
मंत्र का जाप करें। सायंकाल भी प्रतिमा की धूप दीप से पूजा करनी चाहिए। इससे 
 
लक्ष्मी का आगमन होनें लगता है। मंत्र इस प्रकार है -
 
ऊँ नमः शिवाय।
 
                          धन की कमी ना रहे
 
घर के मुख्य द्वार पर प्रतिदिन सरसों के तेल का दीपक जलाएं। दीपक बुझ जानें 
 
पर बचे हुए तेल को पीपल वृक्ष पर सन्ध्या के समय चढ़ा दें। इस प्रकार 7 
 
शनिवार तक करनें पर घर में धन की कमी नहीं रहती।
 
                  आर्थिक स्थिरता बनी रहे
 
माह में दो बार किसी भी दिन जलते उपले पर थोड़ा सा लोपान रखकर उसके धुएं 
 
को पूरे घर में घुमाएं। इससे घर धन धान्य से भरपूर रहता है।
 
पाठ आदि से धनलाभ
 
जिस घर में नियमित रूप से अथवा प्रत्येक शुक्रवार को श्रीसूक्त या श्रीलक्ष्मी 
 
सूक्त का पाठ होता है, वहां धनलक्ष्मी का स्थायी वास होता है।
 
                आर्थिक रूप से समर्थतता
 
यदि आप चाहतें है कि आपके घर में सुख - शांति बनी रहें तथा आप आर्थिक रूप 
 
से समर्थ रहें तो प्रत्येक अमावस्या को पूरे घर की पूर्ण सफाई करें। जितना भी 
 
फालतू सामान इक्कट्ठा हो, उसे कबाड़ी को बेच दें अथवा बाहर फैंक दें। सफाई के 
 
बाद 5 अगरबत्तियां घर में मन्दिर में जलाएं ।

More Vastu

ज्योतिष ज्ञान

img

पुत्र प्राप्ति यन्त्र

रविवार के दिन सर्पाक्षी के पत्तो से युक्त डाली लाकर एक...

Click here
img

कुन्डली रहस्य

पंचम भाव में शनि मंगल लग्नेष के साथ हो तो...

Click here
img

संतान का लिंग बताता है चीनी कैलेंडर

मनचाही संतान प्रापित के लिए सवरोदय विज्ञान का...

Click here
img

रत्नों की जांच कैसे हो

कभी भी ज्योतिष की सलाह के बिना रत्न धारण नहीं...

Click here
img

रूद्राक्ष के प्रयोग

यदि मन्त्र षकित (विधान) के साथ धारण किया...

Click here
img

ग्रह दान वस्तु चक्रम

टीका-साधु, ब्रáणों और भूखों को भोजन कराने...

Click here
img

मंगली दोश के उपाय

जातक के लग्न में अषुभ मंगल होने से मंगली दोश बनता हो तो जातक को...

Click here

Can ask any question