logo
India Free Classifieds

जानिए घर का मुख्य द्वार वास्तु शास्त्र के अनुसार कैसा हो

वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आपके घर के मुख्य द्वार की दिशा  के अनुसार कुछ वास्तु उपाय किये जाये तो घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवेश होता है । वास्तु शास्त्र के मुख्या रूप  से दो प्रभाव है सकारात्मक एवं नकारात्मक । अगर घर मे वास्तु दोष है तो इससे घर  में नकारात्मक ऊर्जा  का प्रवेश होता है तथा मानसिक तनाव भी उत्पन्न होता है| अगर घर में वास्तु दोष है तो इसका उपाय करना आवश्यक है एवं इनको जल्द से जल्द दूर करना भी जरुरी है ।  इससे घर  में अशांति निर्मित होती है तथा नकारात्मक ऊर्जा सक्रिय रहती है । अगर वास्तु शास्त्र के कुछ उपाय मुख्य द्वार पे किये जाए तो घर  में सुख समृद्धि होती है तथा शांति बानी रहती है ।

मुख्य द्वार से  जुड़े कुछ वास्तु उपाय

1. अगर आपके घर के मुख्य दरवाज़े की दिशा दक्षिण की और है तो आप गहरे महरून, पेल येलो कलर का रंग दरवाज़े पे करा सकते है और यह कलर आसानी से उपलब्ध हो जाता है ।

2. अगर मुख्य दरवाज़े की द्वार की दिशा उत्तर की और है तो आप विंड चाइम भी लगा सकते है जो की छह छड़ से निर्मित होनी चाहिए  तथा इस प्रकार के विंड चाइम आसानी से मार्किट में मिल जाते है ।

3. पश्चिम  दिशा वाले मुख्य दरवाज़े के लिए प्लांट या बालकनी के उत्तर पूर्व क्षेत्र में तुलसी  का पौधा लगाए तथा चमेली के फूलो की सुगंध भी नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक ऊर्जा  में बदल देती है ।

4. घर  के मुख्य दरवाज़े के दोनों और हरे एवं लम्बे  कई पौधे लगाए क्योकि यह गलत दिशा में बने दरवाज़े  के बुरे प्रभावों को नष्ट करेगा.

5. आप  मुख्या दरवाज़े पे कोई भी पवित्र चिन्ह लगा सकते है जैसे की स्वस्तिक, ओम, श्री गणेश या शुभ लाभ| इससे घर  में सभी देवी  देवताओ की कृपा बनी रहती है |      

More Vastu

ज्योतिष ज्ञान

img

पुत्र प्राप्ति यन्त्र

रविवार के दिन सर्पाक्षी के पत्तो से युक्त डाली लाकर एक...

Click here
img

कुन्डली रहस्य

पंचम भाव में शनि मंगल लग्नेष के साथ हो तो...

Click here
img

संतान का लिंग बताता है चीनी कैलेंडर

मनचाही संतान प्रापित के लिए सवरोदय विज्ञान का...

Click here
img

रत्नों की जांच कैसे हो

कभी भी ज्योतिष की सलाह के बिना रत्न धारण नहीं...

Click here
img

रूद्राक्ष के प्रयोग

यदि मन्त्र षकित (विधान) के साथ धारण किया...

Click here
img

ग्रह दान वस्तु चक्रम

टीका-साधु, ब्रáणों और भूखों को भोजन कराने...

Click here
img

मंगली दोश के उपाय

जातक के लग्न में अषुभ मंगल होने से मंगली दोश बनता हो तो जातक को...

Click here

Can ask any question