Astro Yatra
India Free Classifieds

Thought of the Day

जिंदगी में दो लोगो का ख्याल रखना बहुत जरुरी है,पिता जिसने तुम्हारी जीत के लिए सबकुछ हारा हो,माँ जिसको तुमने हर दुःख में पुकारा हो।  

Latest News & Articles

  • कैसे हुई महामृत्युंजय मंत्र की रचना?
  • नागपंचमी का महत्व,जानें क्यों की जाती है नागों की पूजा?
  • सावन माह की नागपंचमी पर पाये कालसर्प दोष से मुक्ति
Subscribe to your mailbox!
Daily Forecast Weekly Newsletter

मुहूर्त 2018

शुभ विवाह मुहूर्त, उपनयन मुहूर्त, गृहारंभ मुहूर्त, गृह प्रवेश मुहूर्त, व्यापार प्रांरम्भ मुहूर्त, देव प्रतिष्ठा मुहूर्त, प्रसूति स्नान मुहूर्त...

और भी...

व्रत-त्योहार

◆ जनवरी 2018 त्यौहार, व्रत और तिथि ◆ 2 जनवरी 2018 – मंगलवार, पौष पूर्णिमा व्रत 5 जनवरी 2018 – शुक्रवार, संकष्टी चतुर्थी ...

और भी...

इस माह के व्रत एवं त्यौहार

आगामी माह तिथि त्योहार पर्व दिन विशेष --      दिनांक -27 जुलाई - श्री गुरु पूर्णिमा व्रत  दिनांक -28 जुलाई - एक...

और भी...

Some Interesting Facts



क्या आप जानते है श्रीकृष्ण जी के पास कौनसी 16 कलाये थी?
आपने महाभारत या अन्य धार्मिक ग्रंथो में पढ़ा होगा की भगवान  श्रीकृष्ण 16 कलाओं में सम्पूर्ण थे,16 कलाओं के कारण ही भगवान श्रीकृष्ण हर क्षेत्र में विजयी हुए छाये वो क्षेत्र मित्रता का हो ,रण  भूमि हो,और चाये बात प्रेम की हो ,भगवान...

और भी...



क्या आप जानते है शादी के 7 वचन
प्राचीन काल से ही हिन्दू समाज में सात वचनो का बहुत अधिक महत्व रहा है,ये सात वचन वर और वधु को सुखी दाम्पत्य जीवन की और प्रेरित करता है,चूँकि विवाह सम्पन होते ही कन्या अपने माँ बाप का घर छोड़कर अपने पति के घर जाती है,इसलिए वह अपने अच्छे...

और भी...



जानिए पौराणिक काल के 24 चर्चित श्राप और उनके पीछे की कहानी
हिन्दू पौराणिक ग्रंथो में अनेको अनेक श्रापों का वर्णन मिलता है। हर श्राप के पीछे कोई न कोई कहानी जरूर मिलती है। आज हम आपको हिन्दू धर्म ग्रंथो में उल्लेखित 24 ऐसे ही प्रसिद्ध श्राप और उनके पीछे की कहानी बताएँगे। 1. युधिष्ठिर का स्...

और भी...



क्यों लगाते है हम तिलक ?
तिलक का अर्थ संस्कृत के तिल क्रिया से लिया गया है,जिसका अाश्य है निचोड़,निष्कर्म या थोड़े में बहुत कुछ जान लेना,आयुर्वेद शास्त्रानुशासर मष्तिष्क में पियूष ग्रंथि होती है,जहा अमृत का वास होता है,हमारे वेदो में भी कहा गया है की तिल...

और भी...



महाभारत से जुडी रोचक जानकारी
  पाण्डव पाँच भाई थे जिनके नाम हैं - 1. युधिष्ठिर 2. भीम 3. अर्जुन 4. नकुल 5. सहदेव ( इन पांचों के अलावा , महाबली कर्ण भी कुंती के ही पुत्र थे , परन्तु उनकी गिनती पांडवों में नहीं की जाती है ) यहाँ ध्यान रखें कि… पाण्ड...

और भी...



श्री कृष्ण ने क्यों किया कर्ण का अंतिम संस्कार अपने ही हा
  कर्ण के पिता सूर्य और माता कुंती थी, पर चुकी उनका पालन एक रथ चलाने वाले ने किया था, इसलिए वो सूतपुत्र कहलाएं और इसी कारण उन्हें वो सम्मान नहीं मिला, जिसके वो अधिकारी थे।  इस लेख में आज हम महारथी कर्ण से सम्बंधित कुछ रोचक बातें ...

और भी...



जाने वृक्ष के पत्तों से चमत्कारिक धन लाभ
बहुत कम लोग जानते है की वृक्ष के पत्तो और उनके विभिन्न प्रयोगो से  चमत्कारिक रूप से काम करते है ,जो लाभ हमे वृक्ष देते है और हमारे जीवन के लिये वृक्ष बहुत उपयोगी है वैसे ही वृक्ष के पत्तो से भी हमे लाभ मिल सकता है ,हम आपको ऐसे ...

और भी...



महाभारत की 11 अनोखी दिलचस्प बाते intresting story of mahabharat
महाभारत की ११ अनोखी कहानियां   धार्मिक ग्रंथ महाभारत से आपने अलग-अलग कई कहानियां सुनी होंगी फिर भी इसमें कई ऐसी कहानियां हैं, जिसके बारे में शायद ही आपने कभी सुना होगा. जानिए धार्मिक ग्रंथ महाभारत से संबंधित ११ ऐसी कहानियां ...

और भी...



पहला अक्षर बताएगा आपका व्यक्तित्व
A   A- अक्षर से नाम वाले लोग काफी मेहनती और धैर्य वाले होते हैं। इन्हें अट्रैक्टिव दिखना और अट्रैक्टिव दिखने वाले लोग ज्यादा पसंद होते हैं। ये खुद को किसी भी परिस्थिति में ढाल लेने की गजब की क्षमता रखते हैं। इन्हें वैसी चीज ही भ...

और भी...



जा‍निए हिन्दू धर्म के 10 शुभ रिवाज
हिन्दू धर्म में पूजा के समय कुछ बातें अनिवार्य मानी गई है। जैसे प्रसाद, मंत्र, स्वास्तिक, कलश, आचमन, तुलसी, मांग में सिंदूर, संकल्प, शंखनाद और चरण स्पर्श।  आइए जानते हैं इनका क्या पौराणिक महत्व है  प्रसाद क्यों चढ़ाया जाता है?...

और भी...



काम वासना और ज्योतिष
मनुष्य में काम वासना एक जन्मजात प्रवृति और वह इससे आजीवन प्रभावित -संचालित होता है। किसी व्यक्ति में इस भावना का प्रतिशत कम हो सकता है किसी में ज्यादा हो सकता है । ज्योतिष के विश्लेषण के अनुसार यह पता लगाया जा सकता है की व्यक्ति म...

और भी...



कलियुग -श्री कृष्ण ने क्या उपदेश दिया था पांडवो को
          श्रीकृष्ण कहते हैं- "तुम पाँचों भाई वन में जाओ और जो कुछ भी दिखे वह आकर मुझे बताओ।   मैं तुम्हें उसका प्रभाव बताऊँगा।"   पाँचों भाई वन में गये। युधिष्ठिर महाराज ने देखा कि किसी हाथी की दो सूँड है। &nb...

और भी...
Playing ...
Paused

आज का राशिफल

Subscribe to Our Channel to get Free Jyotish Video Lessons