Astro Yatra
India Free Classifieds
Consult Your Problem Helpline No.
8739999912, 9950227806


Can ask any question

Chaughdiya

किसी भी कार्य को शुभ मुहूर्त या समय पर प्रारंभ किया जाए तो परिणाम अपेक्षित आने की संभावना ज्यादा प्रबल होती है। यह शुभ समय चौघड़िया में देखकर प्राप्त किया जाता है। यहां हमने चौघिड़या देखने की सुविधा उपलब्ध कराई है।

विशेष-दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। समयानुसार चौघड़िया को तीन भागों में बांटा जाता है शुभ, मध्यम और अशुभ चौघड़िया। इसमें अशुभ चौघड़िया पर कोई नया कार्य शुरु करने से बचना चाहिए।

शुभ चौघडिया: शुभ (स्वामी गुरु), अमृत (स्वामी चंद्रमा), लाभ (स्वामी बुध)

मध्यम चौघडिया चर (स्वामी शुक्र)

अशुभ चौघड़िया उद्बेग (स्वामी सूर्य), काल (स्वामी शनि), रोग (स्वामी मंगल)

ज्योतिष ज्ञान

img

राजयोग

यदि 3, 4 ग्रह उच्च या स्वक्षेत्र में केंन्द्रगत हों तो मनुश्य...

Click here
img

ग्रहों का रोग

शश्ठेष के साथ युक्त या सम्बन्ध करने वाले ग्रह...

Click here
img

पुत्र योग

पंचम सनि में स्वक्षेत्री पापग्रह हो तो पुत्र...

Click here
img

गर्भाधान

मासिक धर्म क समय जब चन्द्रमा अनुपचय स्थान...

Click here
img

भाग्यषाली योग

स्त्री की कुण्डली में लंग्नेष, चन्द्रमा, सप्तमेष व भाग्येष यदि...

Click here
img

चक्र

दिन में जन्म हो, सुर्य, लग्न व चन्द्रमा तीनों ही...

Click here
img

सन्तान योग

लग्नेष व पंचमेष यदि एक साथ हों या कोर्इ सम्बन्ध...

Click here
img

मंगली दोश, षनि की साढ़ेसाती व ढैया

मंगल यदि जन्मकुंडली में 1, 4, 7, 8, 12 भाव में हो तो जातक...

Click here
consult

You will get Call back in next 5 minutes...

Name:

*

 

Email Id:

*

 

Contact no.:

*

 

Message:

 

 

Can ask any question